रिश्ते एक दिन में नहीं बनते और न ही एक दिन में मजबूत होते हैं।

रिश्ते एक दिन में नहीं बनते और न ही एक दिन में मजबूत होते हैं।

सही तरीका यह है कि रिश्तों को बेहतर बनाने के लिए हमेशा काम करते रहो,

जब तुम दुखी होना भूल जाओ तो समझ लेना रिश्ता मजबूत हो गया है।

Continue Reading

मोहब्बत का सफर

मोहब्बत का सफर लंबा हुआ तो क्या हुआ…

थोड़ा तुम चलो, थोड़ा हम चले…

थोड़ा तुम चलो, थोड़ा हम चले…

फिर रिक्शा कर लेंगे..

Continue Reading

जोक्स की मिर्ची: आओ थोड़ा हंस लें…

संता अपने दोस्त बंता से…

संता: यार, यह खुशी क्या होती है…

बंता: मुझे क्या पता मेरी तो बचपन में ही शादी हो गई थी..!!!

————

एक दिन बंता की छोटी बेबी रो रही थी और वह उसकी आवाज रिकॉर्ड कर रहा था…

संता: यार, बंता यह क्या कर रहा है…

बंता: इसकी आवाज रिकॉर्ड कर रहा हूं…

संता: क्यों?

बंता: जब यह बड़ी होकर बोलने लगेगी, तब इस आवाज को सुना कर पूछूंगा कि इसका क्या मतलब था..!!!

Continue Reading

देखा संता की कितनी चलती है!

एक दिन संता अपने दोस्त बंता को ख़ुशी से बता रहा था…

संता: मेरे घर में मेरा ही हुकम चलता है…

मैं कहता हूँ गरम पानी लेके आओ तो मेरी बीवी ले आती है…

बंता: गरम पानी ही क्यों..

संता: अरे, गर्म पानी से बर्तन अच्छी तरह धुलते है ना…! ! !

Continue Reading

शादीशुदा लड़कियों में दिलचस्पी…

संता और बंतानी ने लव मैरिज की। 
 
शादी के कुछ दिनों बाद नई-नवेली दुल्हन बंतानी ने कहा, “शादी से पहले तो आप मेरे आगे-पीछे घूमते रहते थे, अब कितने बदल गए हैं।”
 
संता ने बीच में ही टोकते हुए कहा, “मैंने तुम्हें पहले ही बता दिया था कि मैं शादीशुदा लड़कियों में कोई दिलचस्पी नहीं रखता हूं!”
Continue Reading